naye saal par kavita /वर्ष 2020-प्रेमलता शर्मा

नए साल के आगमन पर  हिंदी की वरिष्ठ लेखिका प्रेमलता शर्मा का naye saal par kavita /वर्ष 2020 पाठकों के सामने प्रस्तुत है –

कविता वर्ष 2020


वर्ष 2020 की विदाई में

कुछ ही समय अब बाकी है
बहुत कड़वे जख्म दिए हैं

जो ना भुलाने वाले हैं
कुछ भी हो पर वर्ष 2020

इतिहास के पन्नों पर
मानव जाति के हत्यारे के रूप में

अपना नाम दर्ज करा गया
लोग इसका दिया हुआ

दर्द कभी ना भूल पाएंगे
हर 1 वर्ष को पीछे छोड़

यह बहुत आगे निकल गया
ऐसा जहर घोला पर्यावरण में
विश्व को श्मशान बना दिया
वर्ष 2020 का हर पल

हर दिन हर महीना
एक नई दहशत का आह्वान किया
मानव जाति इसके आगे

हाथ बांधे निस हाय खड़ा
लेकिन हमने भी इसके आगे

हार नहीं मानी है
इसकी विदा घड़ी आने में

अब कुछ ही देर बाकी है
वर्ष 2021 से लोगों ने

बहुत उम्मीद बांधी है
कि शायद 2021 वर्ष 2020 का

मरहम बन कर आएगा और

सारे जख्मों को भर कर
दुनिया पर अपने

खुशियों का परचम लहराएगा

naye-saal-par-kavita
प्रेमलता शर्मा

अन्य रचना पढ़े:

आपको नए साल पर  naye saal par kavita /वर्ष 2020-प्रेमलता शर्मा की रचना कैसी लगी अपने सुझाव कमेंट बॉक्स मे अवश्य बताएं | 

 264 total views,  1 views today

Abhimanyu

मेरा नाम अभिमन्यु है इस वेबसाइट को हिंदी साहित्य के प्रचार-प्रसार के लिए बनाया गया इसका उद्देश्य सभी हिंदी के रचनाकारों की रचना को विश्व तक पहचान दिलाना है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!
× How can I help you?