तीन हज़ार से 20 लाख तक कमाने की कहानी -Rodez web technologies Success story in hindi

Rodez web technologies Success story in hindi : नमस्कार मित्रो आज हम इस कहानी में रायबरेली जिले के एक स्टार्ट अप की कहानी के बारे में बताएंगे। जिसने 2016 में अपने स्टार्ट अप की शुरुआत मात्र 3000 से की लेकिन आज अप्रैल 2020 से अब तक लॉकडाउन में 20 लाख तक टर्नओवर कर चुके है, आज रायबरेली नहीं लखनऊ, दिल्ली जैसे महानगरों से प्रोजेक्ट लेकर आ रहे है अपने स्टार्ट अप के लिए ,चलिए जानते है। Rodez web technologies  की   सफलता का कहानी  :-

Rodez web technologie के संस्थापक अमन सिंह की कहानी

rodez-web-technologies-success-story-hindi


 Rodez web technologie के संस्थापक  का  नाम अमन सिंह है। अमन सिंह का जन्म 14 फरवरी 1998 दिल्ली में हुआ था। उन्होंने  एमिटी विश्वविद्यालय से स्नातक किया है और कंप्यूटर अनुप्रयोगों में मास्टर्स पूरा किया है अमन सिंह के पिता दीपेंद्र सिंह रायबरेली के प्रथम कंप्यूटर विज्ञान के शिक्षक है , जिनके द्वारा 1989   से रायबरेली में कंप्यूटर संस्थान अमन कंप्यूटर एजुकेशन  के माध्यम से हज़ारो युवाओ को कंप्यूटर का ज्ञान करवाया गया है। इस संस्थान के माध्यम से अमन सिंह भी अपना अनुभव शेयर करते है युवा जो इस संस्थान से वेब डेवलमेन्ट, वेब डिजाइनिंग ,ऐप डेवलपमेन्ट , डिजिटल मार्केटिंग का कोर्स करते है।  उन्हें रोजगार के काबिल कोर्स को करते हुए तैयार करते है  अपने मार्गदर्शन में।  

जाने Rodez web technologies की शुरुआत की कहानी 

अमन सिंह ने  भविष्य का लक्ष्य रखा है  ये स्टार्ट अप कॉर्पोरेट सेक्टर में अपनी उपस्थिति दर्ज करायें  और आम आदमी तक इसकी पहुंच हो उन्होंने अपनी बात को कुंवर नारायण की पंक्तियों से समाप्त किया कि “कोई भी लक्ष्य इंसान के साहस से बड़ा नहीं होता हारा वो जो कभी लड़ा नहीं “

अमन सिंह जब १२ साल के थे 2012 में  उनके पिता का किडनी प्रत्यारोपण हुआ था, इस घटना से काफी दुःखी थे , उन्होंने अपनी जिम्मेदारी लेना प्रांरभ कर दिया वे कंप्यूटर संस्थान को लीड करने लगे , एमिटी विश्वविद्यालय में स्नातक के द्वारन 2016 में 3000 रुपए की पहली वेबसाइट बनाई। स्टार्ट अप  की शुरूआत  हो चुकी थी , अब नाम  रखने की बारी  थी।  rodez की  हिंदी अर्थ   राजा होता है , जो एक फ्रांस शहर के नाम पर है। Rodez web technologies स्टार्ट अप का नाम  रखा है जो वेबसाइट डेवलपमेंट, ऐप्प डेवलपमेन्ट का कार्य करती है जो उचित मूल्य पर रायबरेली जैसे जिले में रहकर उच्च गुणवक्ता की वेबसाइट कुछ ही दिनों में तैयार कर देते है , इसलिए इनके ऑफिस लखनऊ , दिल्ली जैसे शहर में भी सेवा दे रहे है अपनी कोर वैल्यू के साथ कि हमे अपने कस्टमर को जो समस्या को देखते हुए उसके अनुसार वेबसाइट को डिज़ाइन करना है।  अपने प्रॉब्लम सॉल्विंग प्रोडक्ट के साथ इस स्टार्ट अप ने 150 से ज्यादा वेबसाइट डिज़ाइन कर दी है , सभी क्लाइंट इस कंपनी की सेवाओ से संतुष्ट है।  आज इस स्टार्ट अप की ब्रांड वैल्यू का असर है कि इस स्टार्ट अप का रायबरेली  जिले में  90 परसेंट का मार्केट है , लोकल बिज़नेस , लोकल न्यूज़ वेबसाइट , पर्सनल ब्लॉग  के लिए रोडीज़ वेब से सम्पर्क करते है।

जाने Rodez web technologies Success story in hindi से जुडी महत्वपूर्ण बातें 

  • अमन सिंह अपने पिता और एलान मस्क को जीवन का आदर्श मानते है उन्ही को अपने जीवन की सफलता का श्रेय देते है।
  • Rodez web technologies में वर्तमान में 18 लोगो की टीम है जो रायबरेली नहीं अमेरिका, कनाडा , जैसे शहरों में अपनी सेवा दे रही है।
  • २०२० -२०२१ का स्टार्टअप का टर्नओवर 20 लाख रहा है।
  • अमन सिंह मानते है युवा जॉब क्रिएटर बने उन्हें दुःख होता है युवा अपना महत्वपूर्ण समय सरकारी नौकरी की तैयारी में व्यतीत कर देते है , जबकि वह तैयारी के साथ ऐसे कोर्स करते हुए अपनी पैसिव इनकम कर सकते है साथ वह माता – पिता को आर्थिक रूप से कुछ मदद भी कर पाएंगे। इन कोर्स को करने के बाद युवा घर से 20 हज़ार से १ लाख तक का कार्य कर सकता है बस संकल्प शक्ति के साथ एक्शन लेना होगा तभी परिणाम मिलेंगे।
  • रोडीज़ वेब अब सरकारी प्रोजेक्ट के लिए भी इस साल तैयार है संस्थापक अमन सिंह का कहना है कि सरकारी विभाग उनके सम्पर्क में है , जल्द ही सरकारी प्रोजेक्ट पर अपनी सेवाओं को शुरू करने जा रहे है।
  • Rodez web technologies मोबाइल ऐप पर कार्य कर रही है वर्तमान में 25 प्रोजेक्ट उनके पास है।
  • रोडीज़ वेब का लक्ष्य है २०२१-२०२२ में   १००० युवाओ को वेबसाइट डिज़ाइन का कोर्स कराके मार्केट के हिसाब से तैयार करना है जो बहुत सरल है।
  • Rodez web technologies के संस्थापक का कहना है कि ऐसे स्टार्ट अप गांव का लड़का भी खड़ा कर सकता है बस उसको स्किल सेट की जरूरत है जो अमन कंप्यूटर अकादमी में हम तैयार करते है।

आपको Rodez web technologies Success story in hindi रायबरेली जिले के स्टार्टअप की कहानी कैसी लगी, अगर आपको इससे प्रेरणा मिलती है तो सोशल मीडिया पर शेयर करे।

Leave a Comment