Lunar Eclipse Chandra Grahan 2021 : सूतक काल जानिये

Lunar Eclipse Chandra Grahan 2021 : सूतक काल जानिये

चंद्र ग्रह्ण क्यों होता है और किन शहरो में इसका प्रभाव रहेगा 

चंद्र ग्रहण एक ऐसी खगोलीय घटना है जिसका ज्योतिषीय प्रभाव इस वर्ष का कुछ क्षेत्रों पर ही पड़ेगा । चंद्रमा मन का कारक होता है और इसका प्रभाव सीधे व्यक्ति के मस्तिष्क पर पड़ता है।
जिन क्षेत्रों में यह ग्रहण दिखाई देना है उनमें कोलकाता गुवाहाटी जोरहाट डिब्रूगढ़ सिलचर शिलांग दिमापुर तेजू ईटानगर अगरतला और इंफाल शामिल है।

चंद्र ग्रहण का समय  २६ मई २०२१ को

इस ग्रहण में चंद्र का कुछ भाग ही प्रभावित होगा लेकिन कुछ विशेष लोगों को इसमें सावधानी बरतने की जरूरत है दोपहर में 3:00 से 6:00 के बीच में पड़ने वाले इस ग्रहण में किन लोगों को सावधानी बरतनी है उस पर ध्यान दें।
भले ही जिन क्षेत्रों में जहाँ  दिखाई देगा वहां पर ही सूतक माना जाएगा फिर भी कुछ लोगों को सावधानी बरतने की आवश्यकता है।

चंद्र ग्रहण के दौरान सावधानियां

१. चंद्र ग्रहण का सूतक 9 घंटे पहले लगता है इसलिए गर्भवती महिलाओं को विशेष रूप से घर के अंदर रहना चाहिए

२. देवी जी का कोई मंत्र उन्हें जपना चाहिए साथ ही अपने पास एक चाकू अवश्य रखना चाहिए क्योंकि इस दौरान नकारात्मक ऊर्जा का प्रभाव ज्यादा हो जाता है और गर्भवती महिलाओं के पेट में पल रहे बच्चे पर उसका प्रभाव पड़ने की आशंका रहती इसलिए ऐसी महिलाओं को यह उपाय करना चाहिए।
३. साथ ही किसी प्रकार की वस्तु को काटे नहीं चाहे वह सब्जी हो या कपड़ा हो या फिर लकड़ी। हो सके तो जितनी देर चंद्र ग्रहण पड़े आप सोए ना और देवी जी का कोई मंत्र जपते रहें। अगर कोई मंत्र नहीं आता है तो ओम दुर्गाय नमः का ही जाप करें।
४. ग्रहण के उपरांत स्नान कर लें अगर स्नान नहीं कर सकते तो अपने ऊपर गंगाजल जरूर आचमन कर ले क्योंकि यह नकारात्मक घटना है जिसका प्रभाव इतना होता है कि चंद्र ग्रहण के दौरान समुद्र का जल भी उफान मारने लगता है।

इस ग्रहण का उन लोगों पर विशेष प्रभाव होता है जो मानसिक रूप से किसी परेशानी से ग्रसित होते हैं। जिन लोगों की कुंडली में चंद्रमा नीच राशि का होता है या फिर ग्रहण दोष होता है उनको विशेष तौर पर चंद्र ग्रहण के दौरान सावधानी बरतनी चाहिए और इन दोष से मुक्ति के लिए भी अच्छा दिन होता है । ओम नमः शिवाय का जाप और ॐ सोम सोमाय नमः का जाप विशेष तौर पर ऐसे लोगों को लाभ पहुंचाने वाला होता है।
क्योंकि यह ग्रहण चंद्रमा की नीच राशि यानी की वृश्चिक राशि में ही पड़ रहा है।


पूजा गुप्ता
ज्योतिर्विद

आपको  Lunar Eclipse Chandra Grahan 2021 चंद्र ग्रहण  से सबंधित जानकारी  ज्योतिर्विद पूजा गुप्ता की कैसी लगी , अपने सुझाव कमेंट बॉक्स में अवश्य बताये हम आपसे जरूर सम्पर्क करेंगे ,जानकारी  पसंद आये तो समाजिक मंचो पर शेयर करे इससे रचनाकार टीम  का उत्साह बढ़ता है।हिंदीरचनाकर पर अपनी रचना भेजने के लिए व्हाट्सएप्प नंबर 91 94540 02444, 9621313609 संपर्क कर कर सकते है। ईमेल के द्वारा रचना भेजने के लिए  help@hindirachnakar.in सम्पर्क कर सकते है|

 509 total views,  3 views today

Abhimanyu

मेरा नाम अभिमन्यु है इस वेबसाइट को हिंदी साहित्य के प्रचार-प्रसार के लिए बनाया गया इसका उद्देश्य सभी हिंदी के रचनाकारों की रचना को विश्व तक पहचान दिलाना है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!
× How can I help you?