मेरी जम्मू-कश्मीर यात्रा | आशा शैली

history-of-uttarakhand-aasha-shailee

यात्राएँ करना सम्भवतया मेरा स्वभाव ही बन गया है अथवा नियति, लेकिन परिस्थितियों के उतार-चढ़ाव और देश की वर्तमान परिस्थितियों में सोच भी नहीं सकती थी कि कभी मुझे कश्मीर भी जाने का सौभाग्य प्राप्त होगा। जब से होश सँभाला है सुनती आई थी कि धरती पर कहीं स्वर्ग यदि है तो वह कश्मीर में … Read more