Dr rasik kishore singh neeraj ka rachna sansar

Dr rasik kishore singh neeraj ka rachna sansar डॉ. रसिक किशोर सिंह ‘नीरज’ की इलाहाबाद से वर्ष 2003 में प्रकाशित पुस्तक ‘अभिलाषायें स्वर की’ काव्य संकलन में अंतर्राष्ट्रीय ख्याति प्राप्त गीत कारों ,साहित्यकारों ने उनके साहित्य पर अपनी सम्मति प्रकट करते हुए कुछ इस प्रकार लिखे हैं भूमिका कविता अंतस की वह प्रतिध्वनि है जो … Read more

nahin thaharata hai vakt

नहीं ठहरता है वक्त ए मुसाफ़िर सब बीत जायेगा यह वक़्त कभी ठहरा ही नहीं ! रफ्त़ा- रफ़्ता निकल जायेगा उजाले कब तलक क़ैद रहेंगे देखना ! कल सुबह अपनी रिहाई के गीत ज़रूर गायेंगे माना कि आज सारे जुगनूं तम से संधि कर उजालों को चिढ़ा रहे हैं जब अंधकार की छाती चीरकर कल … Read more

martyred shailendra pratap singh par kavita

जम्मू कश्मीर के सोपोर जिले मेँ आतंकी हमले मेँ शहीद सीआरपीएफ रायबरेली के जवान शैलेन्द्र प्रताप सिंह के लिए हिंदी विद्धान दयाशंकर जी की कविता martyred shailendra pratap singh par kavita *शहीद सैनिक शैलेन्द्र सिंह को समर्पित* बालक शैलेन्द्र का बाल्यकाल, ग्रामांचल मध्य व्यतीत हुआ। प्रारंभिक शिक्षा हेतु माता ने, ननिहाल नगर को भेज दिया … Read more